Permission for Organising Event / आयोजन की अनुमति

Register here


Important Information

  1. All Social/ academic/ entertainment/ cultural/ political and other congregations including marriage celebrations and functions will be allowed upto 50% of the capacity, subject to maximum of 50 persons in indoor and maximum 100 persons for outdoors .
  2. Gathering in funerals/Cremations are allowed upto 50 persons subject to strict observance of COVID-19 appropriate behavioural norms and social distancing irrespective of location or venue
  3. In no case the marriage function will extend beyond one day.
  4. There shall be no permission to use DJ.
  5. There shall be total ban on organising Dham or community kitchen.
  6. Local Administration while granting permissions to the organizers, may impose additional conditions, as may deem fit, to contain the spread of COVID-19.
  7. Any person violating these directions and COVID-19 safety measures will be liable to be proceeded against as per the provisions of Section 51-60 of the Disaster Management Act, 2005, besides legal action under Section 188 of the IPC, and other legal provisions as applicable.

  1. सभी सामाजिक/शैक्षणिक/मनोरंजन/सांस्कृतिक/राजनीतिक और विवाह समारोह सहित अन्य सभाएं 50% क्षमता के साथ आयोजन की अनुमति होगी | Indoor आयोजन स्थल में अधिकतम 50 व्यक्तियों के तथा Outdoor आयोजन स्थल में अधिकतम 100 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति होगी |
  2. अंतिम संस्कार / दाह संस्कार में 50 व्यक्तियों को इकट्ठा होने की अनुमति है, जो कि स्थान या स्थान के बावजूद COVID-19 उपयुक्त व्यवहार मानदंडों और सामाजिक दूरी के सख्त पालन के अधीन हैं।
  3. किसी भी स्थिति में विवाह समारोह एक दिन से अधिक नहीं होगा।
  4. डीजे का उपयोग करने की अनुमति नहीं होगी।
  5. धाम या सामुदायिक रसोई के आयोजन पर पूर्ण प्रतिबंध होगा।
  6. स्थानीय प्रशासन आयोजकों को अनुमति देते समय COVID-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त शर्तें लगा सकता है।
  7. इन निर्देशों का उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ COVID-19 सुरक्षा उपाय आईपीसी की धारा 188 के तहत और आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51-60 के प्रावधानों के अनुसार कानूनी कार्रवाई की जाएगी ।